चाचा को खेत में खाना देकर घर जाने के लिए निकली किशोरी दो घंटे बाद गन्ने के खेत में मिली अर्धनग्न लाश

चाचा को खेत में खाना देकर घर जाने के लिए निकली किशोरी दो घंटे बाद गन्ने के खेत में मिली अर्धनग्न लाश

बेतिया : पश्चिम चंपारण जिले के गौनाहा थाना क्षेत्र के एक गांव स्थित गन्ने के खेत में 17 वर्षीय युवती की अर्धनग्न लाश मिली। शव को देखने से प्रतीत होता है कि युवती की दुष्कर्म कर उसकी हत्या की गई।

शव की पहचान कर ली गई। सूचना पर पहुंची पुलिस को विरोध के कारण शव को अपने कब्जे में करने के लिए काफी मशक्कत करनी पड़ी। किशोरी के चाचा ने बताया कि उसकी भतीजी उसको खाना खिलाने के लिए खेत में पहुंची थी। खाना देने के बाद वह गन्ने के खेत की तरफ गई। उसके जाने के बाद यह भी अपने काम में व्यस्त हो गया। करीब दो घंटे बाद आसपास काम कर रहे लोगों ने शोर मचाया कि एक लड़की की लाश गन्ना के खेत में है। वहां जाने के बाद उसने देखा तो व उसकी भतीजी की लाश थी। इसके बाद पूरे परिवार में चीख पुकार मच गई। गांव के लोग आक्रोशित हो गए। जिसका खामियाजा सूचना पर पहुंची पुलिस को भी एक बार भुगतना पड़ा।

किशोरी की मां ने बताया कि पिता बुधवार को छठ का प्रसाद लेकर उसके मायके गए हैं। उन्होंने बताया कि उसकी पांच संतानों में वह सबसे बड़ी थी। उसकी शादी इसी साल तय की गई थी।

विरोध करने पर लौटी पुलिस, विधायक की पहल पर माने गांव के लोग
शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजने गई गौनाहा पुलिस जब घटना स्थल पर पहुंची तो आक्रोशित ग्रामीणों को देखकर लौट गई। एसडीपीओ के नेतृत्व में पांच थानों की पुलिस घटनास्थल पर पहुंची। उन्हें शव को कब्जे में लेने के लिए काफी मशक्कत किया। लेकिन, ग्रामीण शव देने से इनकार कर गए।

ग्रामीणों का कहना था कि दो साल पूर्व भी इसी गांव में ऐसी ही घटना घटी थी। लेकिन, अभी तक पुलिस ने आरोपियों की पहचान तक नहीं किया। जब ग्रामीण पुलिस को लाश देने से इनकार कर दिए और पुलिस से बकझक पर उतारु हो गए तो इसकी सूचना विधायक को दी गई।

सूचना पर पहुंची रामनगर विधायक भागीरथी देवी ने घटना स्थल पर पहुंच कर लोगों को समझा-बुझा कर शांत कराया तथा शव को पोस्टमार्टम के लिए पुलिस को सौंपा गया।

दादी बोली : जिस समय हुई पोती की खोज, 4-5 लोग को खेत से निकलते देखी थी
रेप के बाद गन्ने के खेत में युवती की हत्या कर देना किसी एक आदमी का काम नहीं लगता। इस घटना में एक से अधिक लोग शामिल रहे होंगे। क्योंकि अगर रेप भी हुआ तो लड़की विरोध करती और इस बीच गन्ना के पत्ते जरूर खड़खड़ाते या चीख पुकार आसपास के लोगों को जरूर सुनाई पड़ती। जबकि कहा जा रहा है कि घटनास्थल से करीब पांच सौ मीटर की दूरी पर मृतका के घर व करीब दो सौ मीटर की दूरी पर उसके चाचा खेत में धान का बोझा बांध रहे थे।

मामला कुछ स्पष्ट नहीं हो पा रहा। हालांकि, इस संबंध में परिजन कुछ भी स्पष्ट नहीं बता रहे। लेकिन, किशोरी की दादी ने बताया कि जब पोती की खोज होने लगी तो उस समय चार पांच लोगों को वह गन्ना के खेत से निकलते देखी थी। उधर, ग्रामीण सूत्रों के अनुसार पीड़ित परिवार को गांव का कुछ लोगों से विरोध चल रहा था। आशंका यह भी जताई जा रही है कि इस घटना को एक साजिश के तहत अंजाम दिया गया।

शव को पोस्टमार्टम के लिए बेतिया भेज दिया गया। शव का देखने से प्रथम दृष्टया मामला दुष्कर्म के बाद हत्या का प्रतीत होता है। घटना स्थल से खून से सने दो ईख के गुल्ले एवं एक मोबाइल पुलिस को मिली। दोनों चीजों को जब्त कर जांच के लिए भेज दिया गया है। वैसे अभी कुछ नहीं कहा जा सकता, पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही घटना की पूरी जानकारी हो पाएगी। -निसार अहमद, एसडीपीओ, नरकटियागंज।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.