बकाए रुपये के लिए हुई अर्जुन राम की हत्या! चार गिरफ्तार

बकाए रुपये के लिए हुई अर्जुन राम की हत्या! चार गिरफ्तार

सिवान : ओपी से महज 1000 फीट की दूरी पर नबीगंज बाजार में उत्तम साह के जनरल स्टोर की दुकान में बैठे युवक की बाइक सवार मड़ई साह उर्फ मिथिलेश साह द्वारा गोली मारकर हत्या किए जाने के 24 घंटे बाद भी मामले में पुलिस मुख्य हत्यारोपित को गिरफ्तार नहीं कर सकी है।

मामले में मृतक की मां जानकी कुंवर ने शुक्रवार को ओपी में आवेदन देकर गांव के ही रमाशंकर साह,जनरल स्टोर दुकानदार उत्तम साह और उसके छोटा भाई रोहन, अंटू सिंह और राजकुमार साह के पुत्र मिथिलेश साह उर्फ मड़ई साह को आरोपित किया है। प्राथमिकी दर्ज होते ही पुलिस तत्परता दिखाते हुए नामजद आरोपित रमाशंकर साह, उत्तम साह, रोहन साह,अंटू सिंह को गिरफ्तार कर जेल भेजने की कार्रवाई शुरू कर दी थी, पुलिस ने संदेह के आधार पर मुख्य आरोपित मड़ई साह की मां बसंती देवी उर्फ मालती देवी, सुनील साह, बैकुंठपुर थाना क्षेत्र के धर्मबारी गांव निवासी रंजन साह एवं अन्य को हिरासत में लेकर पूछताछ कर रही है। ओपी प्रभारी रवींद्रपाल ने बताया कि जल्द ही मुख्य आरोपी को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। वहीं हैरानी की बात यह है कि जिस तरह से इस मामले में उत्तम साह को आरोपित किया गया उससे यह साफ जाहिर होता है कि इस हत्या को सोची समझी साजिश के तहत अंजाम दिया गया है। क्योंकि उत्तम साह ने भी अर्जुन से रुपये लिए थे। फिलहाल पुलिस हर मामले की जांच कर रही है।
ग्रामीणों ने किया हत्यारोपित के घर पर रोड़ेबाजी
शुक्रवार की सुबह पड़ौली साह टोला गांव के अर्जुन राम की मौत की खबर सुन आक्रोशित हो गए और हत्यारा मिथिलेश साह और रमाशंकर साह तथा दुकानदार उत्तम साह के दरवाजे पर पहुंचकर जमकर रोड़ेबाजी करने लगे। इस कारण कुछ देर के लिए अफरा-तफरी का माहौल कायम हो गया। भगड़द मच गई। इस घटना में कई लोक आंशिक रूप से घायल हो गए जिसमें कई कर्मचारी, पुलिस कर्मी भी शामिल थे। इस दौरान स्थिति नियंत्रण करने पहुंची पुलिस को भी ग्रामीणों के आक्रोश का सामना करना पड़ा। ग्रामीण सड़क पर शव रखकर प्रदर्शन करने के बाद हत्यारोपित मिथिलेश साह उर्फ मड़ई साह के दरवाजे पर शव रख जलाने की बात कह रहे थे। बाद में जनप्रतिनिधियों एवं प्रशासन के काफी समझाने-बुझाने के बाद शव को अन्यत्र दाह संस्कार के लिए ले जाया गया।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.