गर्मियों में गोरेयाकोठी प्रखंड में पानी के लिए मचा हाहाकार – siwanexpressonline
Breaking News

गर्मियों में गोरेयाकोठी प्रखंड में पानी के लिए मचा हाहाकार

राजीव रंजन कुमार / सीवान गोरियाकोठी उत्तर सरारी पंचायत मे पानी का लेयर नीचे चले जाने से कई वार्डों मे पानी के लिए मचे हाहाकार मच चुका है।
वही टैकरो से पानी पर्याप्त पानी नही सप्लाई हो पाने को देखते हुए सात निश्चिय योजना अन्तगर्त जल नल योजना के रुके कार्यों मे तेजी के लिए बी डी ओ सी ओ सी आई और पंचायत सचिव वार्ड आठ मे पहुँचे।

यहां पर बन रही टंकी के भुमी विवाद के कारण हरमुन मिश्र शैलेष मिश्र और सुरेन्द्र मिश्र के कारण टंकी का कार्य रुका हुआ है वस्तु स्थिति को देखते हुए जमीन नापी के बाद संभवत शनिवार को कार्य चालू होगा।वार्ड 10 नम्बर मे भी सरकारी भुमी पर वार्ड सदस्य राजेन्ति देवी द्वारा टंकी निर्माण को कुछ लोगों द्वारा रोका गया था जिसे सुलझाते हुए कार्य को तेज गति करने का आदेश प्रशासन द्वारा वार्ड सदस्य को दिया गया है।

बी डी ओ से कुछ अन्य वार्ड द्वारा टंकी और पाइप लाइन कार्य के लिए एक ठेकेदार को 9 से 10 लाख अग्रिम भुगतान हो जाने पर भी ठेकेदार द्वारा कार्य नही कराने और वार्ड 5 मे वार्ड सदस्य द्वारा ठेकेदार पर FIR दर्ज पर सवाल पर पंचायत जबाव देगा ऐसा कहना है बी डी ओ का।
गौर तलब है की 5 नम्बर वार्ड मे जो मेन रोड लधी बाजार का हिस्सा है और मात्र 1 फिट गहराई मे पानी सप्लाई का पाइप गाढ़ा गया था जो रोड चौड़ी करण के दौरान पुरी तरह नष्ट हो गया था।
बाद मे ठेकेदार द्वारा अतिरिक्त राशि की मॉंग वार्ड सदस्य से करने लगा इस कारण कार्य रुक गया।
और बाद मे वार्ड सदस्य शम्भु साह द्वारा 18/03/2019 को केस संख्या 55/19 को सेक्सन 420/409 के तहत मामला दर्ज कराया गया है।
इसके बाद ठेकेदार पर या वार्ड सदस्य पर कोई कार्यवाही नही हुई है एक अन्य सवाल जो प्रमोद कुमार साहवाल डिस्ट्रीक रिसोर्स पर्सन ऑन आर टी आई द्वारा शौचालय से संबंधित था।

बी डी ओ द्वारा कहा गया है कि।पंचायत सचिव जबाव देंगे और पंचायत सचिव से बात करने पर बाद मे बात करने की बात कर टालते दिखे।
इस मामले मे 6-7महीने पूर्व शौचालय फार्म जमा करते वक्त रिसिविंग को लेकर हल्ला भी गोरियाकोठी कार्यालय मे हुआ था जिसका वीडियो भी वायरल हुआ था। और उसके बाद कई बार कार्यालयों मे प्रमोद कुमार ने जानने की कोशिश की। क्या हुआ फार्म का बहुत कोशिश के बाद कम्प्यूटर मे इन्ट्री मिली पर नाम के साथ पिता का नाम बदल दिया गया था।
इसके बाद भी कई प्रयास विफल होते देख प्रमोद कुमार ने चुनाव पुर्व बी डी ओ से मिल कर वस्तु स्थिति की पुरी साक्ष्य के साथ पेश किये।
उस समय बी डी ओ ने मामले को गंभीरता से लेते हुए स्वयं डायरी मे नोट किये और आश्वासन दिये की मैं स्वयं जॉंच करूँगा।
पर आज तक इस मामले मे कोई कार्यवाही नही किया गया यहा तक की जीओ ट्रेकिंग तक नही किया गया है।जबकि 1500 से 2000 रू दलाली पर काम करवा देने के लिए कई दलाल बाजार मे मिल जाएंगे।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.

error: Content is protected !!
%d bloggers like this: