सुमित कुमार के इन्साफ के लिए छे महीने से भटक रहा है परिवार इंसाफ नही मिली

असफाक अहमद / गोपालगंज : छ: महीने से भटक रहा है सुमित के परिवार अभी तक इंसाफ नही मिली जिले के बैकुंठपुर थाना सिसई निवासी अशोक सिंह स्वर्गीय नथुनी सिंह के पुत्र सुमित कुमार (18) को गांव के कुछ लोगो द्वारा मामूली से बात को लेकर 3/3/2019 गर्दन में फांसी कसकर हत्या कर दी गई तथा लाश को अपने घर के आगे सरसों के खेत में फेंक दिया गया था जब गांव के कुछ लोग सुमित कुमार की लाश देखें तो पूरे गांव में सनसनी फैल गई

इस मामले पे बात करते हुए सुमित कुमार के बड़ा भाई अमित ने बताया कि हम लोग कुछ लोगो को ब्याज पे पैसे देने के काम करते थे गांव के ही भोला सिंह को कुछ पैसा ब्याज पे हम लोग दिए थे पैसे माँगने पे बोले थे अगले महीने देंगे तो अगले महीने ऐसा ही करते थे फिर भी हमलोग मान गए जिस दिन ये लोग सुमित कुमार को हत्या किए उस दिन रात में हम और उन लोगो के परिवार के कुछ सदस्य तिलक समारोह मे गए हुए थे लेकिन सुबह में छोटा भाई सोया हुआ था उसके मोबाइल पे बहुत कॉल आ रहा था जग कर मम्मी से बोला कि पैसे देने के लिए भोला सिंह के यहा के लोग बोला रहे हैं हम जा रहे लगभग सुबह 8 बजे गया और 10 : 30 बजे भोला सिंह के घर के सामने सरसो के खेत मे सुमित कुमार की लाश मिली जब भोला सिंह के परिवार मारकर सुमित को घर से बाहर फेंक रहे थे उस गांव के कुछ लोग देख लिए थे हल्ला करने लगे जब पूरा गांव के लोग इकट्ठा हुआ एक बड़ी मार पीट के गांव में ही सम्भावना बनने लगी तो पुलिस प्रशासन ने समझा बुझाकर सबको हटा दिया और सुमित कुमार न्याय मिलेगी ऐसे कहकर

पोस्टमार्टम के लिए बोर्डि लेकर गोपालगंज चली गई लेकिन आज 6 महीने से ज्यादा हो गया दर दर भटक रहा है परिवार लेकिन अभी तक इंसाफ नही मिली बताया जा रहा है जो लड़का इस कांड में मुख्यअरोपी है वह विधायक के पियो के फुवा के लड़का है इस लिए इस मामलों को दबाया जा रहा है आरोपी क्रमशः संख्या 1 शत्रुघ्न सिंह उर्फ भोला सिंह पिता स्व सूर्यदेव सिंह 2 अमरजीत सिंह पिता राजकुमार सिंह 3 राजकुमार सिंह पिता स्वर्गीय भरत सिंह 4 मोनू सिंह पिता स्वर्गीय भरत सिंह 5 अर्जुन सिंह 6 चुटुल कुमारी दोनों को पिता शत्रुघ्न सिंह 7 चिंता देवी पति शत्रुघ्न सिंह 8 संगीता देवी अर्जुन सिंह 9 नीरज देवी पति राजकुमार सिंह एवं 10 वरुण सिंह पिता शत्रुघ्न सिंह

इनमें से दो ही लोग को गिरफ्तार किया गया 8 लोग आज़ाद घूम रहे हैं वह भी दो आरोपी मर्डर के केश दर्ज होने के बाबजूद अग्रीम जमानत पर बाहर घूम रहे हैं न्याय के लिए थाना अध्यक्ष से लेकर उच्च अधिकारियों तक गुहार लगाया जा चुका है कोई सबूत मांग रहा है तो कोई न्याय मिलने का इंतजार करवा रहा है जबकि आरोपी पे 302 धारा के तहत मामला दर्ज है – ये ब्यान अमित कुमार के तरफ से दी गईं हैं जो सुमित कुमार के बड़े भाई है

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.